शिक्षा एवं प्रशिक्षण आंचलिक संस्थान चण्डीगढ़ में तीन दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम दिनांक 1 मई 2016 से

समाचार । चण्डीगढ़/ग्वालियर।  शिक्षा एवं प्रशिक्षण आंचलिक संस्थान चण्डीगढ़  में हिन्दी के सेवाकालीन प्रशिक्षण कार्य हेतु पाठ्यक्रम निदेशक, सम्बद्ध-निदेशक एवं संसाधकों का तीन दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम दिनांक 1 मई 2016 से 3 मई 2016 तक आयोजित किया जायेगा। शिक्षा एवं प्रशिक्षण आंचलिक संस्थान चण्डीगढत्र में उक्त उन्मुखीकरण कार्यक्रम की संयोजिका श्रीमती सुनीता गुसाईं, स्नातकोत्तर शिक्षक-हिन्दी ने बताया कि संस्थान के निदेशक श्री जगदीश मोहन रावत के कुशल दिशा-निर्देशन में उक्त उन्मुखीकरण सफलतापूर्वक सम्पादित होगा। उक्त उन्मुखीकरण कार्यक्रम में सम्मिलित होने जा रहे देश के विभिन्न हिस्सों के पाठ्यक्रम दलों के मध्य अपेक्षित पाठ्यसामग्री विकसित करने हेतु कार्य-विभाजन कर दिया गया है।

dc.jpg

श्री जगदीश मोहन रावत, निदेशक

शिक्षा एवं प्रशिक्षण आंचलिक संस्थान चण्डीगढ़

Tele: 0172- 2621364 & 2621302

zietchdacad@gmail.com

sunita madam

श्रीमती सुनीता गुसाईं, स्नातकोत्तर शिक्षक-हिन्दी

शिक्षा एवं प्रशिक्षण आंचलिक संस्थान चण्डीगढ़

विस्तृत परिपत्र डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें। download ZIET circular

उक्त उन्मुखीकरण कार्यक्रम में भाग लेने हेतु केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1 की प्राचार्य एवं पाठ्यक्रम निदेशक सुश्री राजकुमारी निगम, पाठ्यक्रम के सम्बद्ध निदेशक श्री एम.के.मीना, प्राचार्य केन्द्रीय विद्यालय छाबरा एवं संसाधकत्रय श्री धर्मेन्द्र भारद्वाज, डाॅ. अश्विनी शिवहरे, डाॅ. रामकुमार सिंह शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान चण्डीगढ़ जायेंगे।

Advertisements

सेवाकालीन प्रशिक्षण हेतु केविसं द्वारा कार्यक्रम जारी

समाचार। नई दिल्ली/ग्वालियर/चण्डीगढ़   केन्द्रीय विद्यालय संगठन द्वारा इस सत्र के लिए विभिन्न विषयों एवं पदों के शिक्षकों के सेवाकालीन प्रशिक्षण हेतु कार्यक्रम, स्थल एवं संसाधक दलों की घोषणा कर दी है।
विस्तृत परिपत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
इसी क्रम में स्नातक शिक्षक हिन्दी के प्रशिक्षण कार्य हेतु भी विभिन्न संसाधक दलों की सूची जारी कर दी गई है। आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण केन्द्र चण्डीगढ़ अंतर्गत केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1 ग्वालियर में दिनांक 18 मई 2016 से 29 मई 2016 तक आयोजित प्रशिक्षण के लिए निदेशक, सम्बद्ध-निदेशक एवं संसाधकत्रय के नामों नियत किये गये हैं। जो इस प्रकार हैं:

1-राजकुमारी निगम (निदेशक)

प्राचार्य केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1, ग्वालियर, (प्रशिक्षण स्थल)

mob. 9425767050  

email  kv1gwl@gmail.com

rkn1
स्नातक शिक्षक हिन्दी के आयोजित होने जा रहे सेवाकालीन प्रशिक्षण शिविर की निदेशक एंव प्राचार्य राजकुमारी निगम देश के प्रारंभिक एवं प्रतिष्ठित केन्द्रीय विद्यालयों में गण्य केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1 की प्राचार्य हैं। वे विषय विशेषज्ञ होने के साथ ही कुशल प्रशासनिक क्षमता से युक्त हैं। गत वर्ष आपके ही निर्देशन में स्नातकोत्तर शिक्षक हिन्दी का सेवाकालीन प्रशिक्षण सफलतापूर्वक संपादित हुआ जिसकी भूरि-भूरि प्रशंसा हुई। आप स्नातक शिक्षक हिन्दी के आयोजित होने जा रहे शिविर के 5 सदस्यीय मुख्य दल का निर्देशन कर रहीं हैं।

2-श्री एम.के. मीना (सम्बद्ध-निदेशक)
प्राचार्य, केन्द्रीय विद्यालय सीटीपीपी, छाबरा

mob.09414569343, 09549634244

email- mkmeena777@gmail.com

meena g

श्री एम.के. मीना, पुरातात्विक महत्व और शौर्य की भूमि राजस्थान में स्थित केन्द्रीय विद्यालय सीटीपीपी छाबरा के प्राचार्य हैं। आप हिन्दी भाषा के विशेषज्ञ होने के साथ ही प्रशासनिक एवं अकादमिक गुणों से सम्पन्न व्यक्तित्व के धनी है। स्नातक-शिक्षक हिन्दी हेतु केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1 ग्वालियर में प्रस्तावित सेवाकालीन प्रशिक्षण शिविर के सम्बद्ध निदेशक के रूप में आपको दायित्व सौंपा गया है। आप केन्द्रीय विद्यालय संगठन द्वारा प्रदत्त इस प्रकार के विभिन्न दायित्वों का सफलतापूर्वक निष्पादन करते रहे हैं।

3-श्री धमेन्द्र भारद्वाज (संसाधक )
स्नातकोत्तर शिक्षक-हिन्दी
केन्द्रीय विद्यालय तालबेहट

mob-9893000998

email-kvshindi@gmail.com

dh_pp
हिन्दी विषय के संसाधन सम्पन्न विशेषज्ञ श्री भारद्वाज विज्ञानसम्मत प्रतिभा के भी अद्भुत धनी रहे हैं। आपने केन्द्रीय विद्यालय संगठन में दिनांक 26 मार्च 2009 से सेवा प्रारम्भ की है। संसाधक के रूप में गत वर्ष केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1 ग्वालियर में आयोजित स्नातकोत्तर शिक्षक हिन्दी का सेवाकालीन प्रशिक्षण वर्तमान निदेशक सुश्री राजकुमारी निगम के कुशल मार्गदर्शन में बखूबी सम्पादित कर चुके हैं। सत्र 2014-15 में भी यह भूमिका आपने निभाकर पर्याप्त अनुभव अर्जित किया है।

4-डाॅ अश्विनी कुमार शिवहरे (संसाधक )

स्नातकोत्तर शिक्षक-हिन्दी,
केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक5, ग्वालियर

मोबा. 7415598511

email-ashwinishivahare@yahoo.com

aswni.jpg

डाॅ अश्विनी कुमार शिवहरे देश के प्रतिष्ठित इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हिन्दी विषय में शोध-उपाधिधारक हैं। आप यूजीसी नेट द्वारा कनिष्ठ अनुसंधान अध्येता रहे हैं। आपका शोधकार्य एवं विशेषज्ञता हिन्दी के उपन्यासों में साहित्यिक मूल्यों की खोज-खबर है। दिनांक 27 जुलाई 2009 से केन्द्रीय विद्यालय संगठन में स्नातकोत्तर शिक्षक हिन्दी के रूप में सेवायें दे रहे डाॅ अश्विनी कुमारउपन्यास, कहानी सहित गद्य विधाओं में गहरी रुचि रखते हैं।
5- डाॅ. रामकुमार सिंह (संसाधक )

स्नातकोत्तर शिक्षक-हिन्दी,

केन्द्रीय विद्यालय मुरैना

mob-9301369969

email- singh.rk2009@rediffmail.com

web-www.ramkumarsingh.com

ram

अपनी नवाचारी परियोजना के लिए एनसीईआरटी नई दिल्ली का वर्ष 2012 का राष्ट्रीय पुरस्कार केन्द्रीय विद्यालय संगठन बैंगलौर संभाग अंतर्गत के.वि. दोणिमलै के लिए प्राप्त कर चुके डाॅ. रामकुमार सिंह युवा शिक्षाविद् के रूप में ख्यात हैं। हिन्दी महाकाव्यों में सामाजिक चेतना के अनुसंधान पर जीवाजी विश्वविद्यालय से वर्ष 2009 में डाॅक्टरेट उपाधि प्राप्त डाॅ. रामकुमार सिंह यूजीसी-नेट के साथ ही हिन्दी, राजनीति विज्ञान, संगीत, गणित, शिक्षा, व संगणक विज्ञान में उपाधिधारक हैं। ललित कला, एवं सम-सामयिक विषयों पर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में स्तम्भ-लेखक रहे डाॅ. सिंह विभिन्न मंचों से कवि-सम्मेलनों में शामिल, समाचार-पत्रों के विशेष अभियानों और दूरदर्शन पर साहित्यिक परिचर्चाओं  में आमंत्रित, मंच-संचालक के रूप में ख्याति, बाल-मनोविज्ञान के कुशल अध्येता, दक्षिण भारतीय भाषाओं के उत्थान के लिए कार्यरत बहुभाषी कक्षा में भाषा-अध्यापन के विशेषज्ञ रहे हैं। थियेटर/नाटक लेखन में आपकी दक्षता है। । हिन्दी नाटक – ‘बेटी, सड़क और काले हाथ’ तथा ‘ब्रह्मराक्षस’ केन्द्रीय विद्यालय संगठन की राष्ट्रीय सामाजिक प्रदर्शनी में राष्ट्रीय स्तर पर ग्वालियर एवं चंडीगढ़ में प्रदर्शित हो चुके हैं। संगीत में गहरी रुचि, अनेक मंचों से गायन, वादन आदि में सम्मिलित। आप 7 फरवरी, 2009 से स्नातकोत्तर शिक्षक-हिन्दी के पद पर सेवारत
हैं, और जानकारी ‘सर्जना’ तथा ‘विकीपीडिया’ पर(प्रस्तुति सर्जना टीम)