बेजोड लता जी और बेबी हालदार की आत्‍मकथा

वितान – कक्षा: 11 वीं : प्रश्नोत्तर-संचयन
पाठ: भारतीय गायिकाओं में बेजोड़: लता मंगेशकर

प्रश्न 1. लय कितने प्रकार की होती है?
उत्तर: लय तीन प्रकार की होती है-
क- बिलंबित लय (धीमी) ख- मध्य लय (बीच की) ग- द्रुत लय (तेज)
प्रश्न 2. लेखक ने शास्त्रीय गायकों पर क्या आरोप लगाया है? उन्होंने शास्त्रीय गायकों को क्या सुझाव दिया है?
उत्तर: . लेखक ने शास्त्रीय गायकों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने शास्त्र-शुद्धता के कर्मकांड को आवश्यकता से अधिक महत्व दे रखा है। लेखक ने उन्हें सुझाव दिया है कि केवल शास्त्र शुद्धता और नीरस गाना गाने की बजाय उन्हें सुरीला और भावपूर्ण गाना चाहिए।
प्रश्न 3. चित्रपट संगीत के विकसित होने का क्या कारण है?
उत्तर:- चित्रपट संगीत आम आदमी की समझ में आ रहा है। इसके माध्यम से लोग अपनी संस्कृति से परिचित हो रहे हैं। यह विभिन्नता में एकता का प्रचार कर रहा है। फलस्वरूप चित्रपट संगीत दिनोंदिन अधिकाधिक विकसित होता जा रहा है।
प्रश्न 4. लता मंगेशकर के गायन की किन्हीं तीन विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
क- शास्त्रीय व चित्रपट संगीत का ज्ञान – लता मंगेशकर को शास्त्रीय तथा चित्रपट संगीत दोनों प्रकार के संगीत का ज्ञान है। उनके संगीत में शास्त्रीय आधार का अभाव नहीं रहता। चित्रपट संगीत की लोकप्रियता का मूल ही उसमें शास्त्रीय संगीत का मेल है।
ख- स्वरों में निर्मलता उनके स्वरों में कोमलता और मुग्धता है। लताजी का जीवन के प्रति जो दृष्टिकोंण है, वही उनके गायन की निर्मलता में झलकता है।
ग- गायकी में गानपन – लता की लोकप्रियता का मुख्य आधार उनके गानों का गायन है। उनकी हृदय की भावुकता उनकी गायकी में ‘गानपन’ का अनूठा भाव श्रोता को मस्त बना देता है।
प्रश्न 5: शास्त्रीय संगीत और चित्रपट संगीत के तीन अंतर बताइये?
उत्तर: शास्त्रीय संगीत –
क- रागों की प्रधानता होती है।
ख- ताल परिष्कृत रूप में पाया जाता है।
ग- स्थायीभाव गंभीरता है।
चित्रपट संगीत –
क- गानपन की प्रधानता होता है।
ख- आधे तालों का उपयोग किया जाता है।
ग- स्थायीभाव दु्रत लय और चपलता होती है।
पाठ का नाम: आलो-आँधारि

(तातुश के साथ)

प्रश्न 1: बेबी हालदार को अपने पति का घर क्यों छोड़ना पड़ा?
उत्तर – बेबी हालदार का विवाह अपने से दुगुनी उम्र के व्यक्ति से हुआ बारह-तेरह वर्ष तक पति के साथ उसकी ज्यादतियों को सहन करती रहीं। उसकी ज्यादतियों से परेशान होकर तीनों बच्चों सहित उसने पति का घर छोड़ दिया।
प्रश्न 2. लेखिका को लेखन के लिए किन-किन लोगों ने उत्साहित किया ?
उत्तर- लेखिका को लेखन के लिए सबसे पहले तातुश ने प्रेरित किया । उन्होनें ही उसका परिचय कोलकत्ता और दिल्ली के लोगों से करवाया । इसके अतिरिक्त कोलकत्ता के जेठू , आनंद , अध्यापापिका शर्मिला आदि पत्र लिखकर उसे प्रोत्साहित करते थे ।
प्रश्न 3 – पति का घर छोड़ने के बाद लेखिकाय को क्या चिंता सताने लगी ?
उत्तर- पति का घर छोड़कर लेखिका अपने बच्चों के साथ किराये के मकान में रहने लगी । उस समय उसे यह चिंता सताने लगी कि यदि काम नें मिला तो मकान का किराया कैसे देंगी ? कैसे अपने बच्चों को पालेगी-पोसेगी ? इसी चिंता में डूबी वह अपने बच्चों को साथ लेकर काम ढूॅंढने के लिए एक घर से दूसरे घर जाती लेकिन काम नहीं रहा था ।
प्रश्न 4 – तातुश के घर बेबी सुखी थी , फिर भी उदास हो जाती थी । क्यों ?
उत्त्र- तातुश के घर पर बेबी को बहुत सुविधाए व सहायता मिली परन्तु उसे अपने बड़े लड़के की याद आती थी । उसकी सूचना दो महीने से नहीं आई थी । जो लोग उसके लड़के को लेकर गए थे , उनके दिए पते पर वह लड़का नहीं रहता था । उसने कुछ लोगों से पूछा तो किसी ने संतोषजनक उत्तर नहीं दिया । इसलिए वह उदास हो जाती थी ।
प्रश्न 5- तातुश ने लेखिका को पार्क में जाने का सुझाव क्यों दिया था ?
उत्तर: तातुश अपने छोटे पुत्र अर्जुन दा के साथ रहते थे। घर में उसके दो मित्र भी वहांँ रहने के लिए आ गए थे , उनके आने से लेखिका का काम बढ़ गया था। वह सारा दिन घर के कार्यों में व्यस्त रहती थी। घर के लोगों के अच्छे व्यवहार के कारण वह प्रत्येक कार्य को खुशी-खुशी करती थी। तातुश ने उसके कार्य की व्यस्तता को देखते हुए उसे पार्क में अपने बच्चों के साथ जाने का सुझाव दिया, ताकि उसका तथा उसके बच्चों का मनोरंजन हो सके।

-सौजन्‍य – स्‍नातकोत्‍तर हिन्‍दी शिक्षक प्रशिक्षण, वाराणसी

Advertisements