‘जीवन-मूल्यों को बचाये रखना आज की सबसे बडी जरूरत’/चौथा मानव मूल्य संवर्द्धन पुरस्कार सेवानिवृत पुलिस अधीक्षक श्री के डी पाराशर को

cp sir 4
सर्जना। 30 दिसम्बर। मुरैना/ग्वालियर। मानव मूल्यों की प्रतिष्ठा रखते हुए कर्तव्य निर्वहन के लिए ‘परहित’ संस्था मुरैना द्वारा प्रतिवर्ष दिया जाने वाला ‘चन्द्रपाल सिंह सिकरवार मानव मूल्य संवर्द्धन पुरस्कार-2012, सेवानिवृत पुलिस अधीक्षक श्री के डी पाराशर को पुलिस सेवा के दौरान उनकी ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठता के लिए प्रदान किया गया। इस मौके पर मुख्य वक्ता के रूप में प्रखर राष्ट्रीय चिंतक एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री सुनील पाण्डेय, हिन्दुस्तान टाइम्स, नई दिल्ली, तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रो चन्द्रपाल सिंह सिकरवार सहित विभिन्न गणमान्य अतिथि उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्वालियर रेन्ज के डीआईजी श्री हरीसिंह यादव ने की।
मुरैना नगर के खचाखच भरे टाउन हाल में मुख्य वक्ता के रूप में सम्बोधित कर रहे हिन्दुस्तान टाइम्स के वरिष्ठ पत्रकार श्री सुनील पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान सभ्यता पंचतत्व को संकट में डालने वाली है। आज मूल्यों का संकट है। पश्चिम से प्रेेरित बाजारवाद और जीवनमूल्य दोनों विरोधी तत्व है। विज्ञापनों का यह युग उन विक्रतियों का उत्प्रेरक है जिसका भारतीय जीवन दृष्टि में निषेध है। उन्होंने कहा कि इस दुर्भाग्य के समय में ऐसे आयोजन ताजा हवा के झोंके की तरह हैं।
आयोजन के मुख्य आदर्श डॉ चन्द्रपाल सिंह सिकरवार आज आदमी की भीड है, लेकिन भीड में आदमी नहीं है। उन्होनें कहा कि जो औरों के लिए जीते हैं वे ही सच्चे अर्थों में महान कहलाते हैं। उन्होंने कहा कि जो मूल्य केवल शब्दकोश की शोभा बढा रहे हैं उन्हें जीवन में उतारना है।
पुरस्कार प्राप्त करने पर श्री केडी पाराशन ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि उन्होनें केवल अपने कर्तव्य का पालन किया है। अपने पिता की कही बात को जीवन भर आदर्श बनाया। उन्होंने परहित संस्था और डॉ चन्द्रपाल सिंह सिकरवार के प्रति कृतज्ञता का ज्ञापन भी किया।
आयोजन की अध्यक्षता कर रहे डीआईजी ग्वालियर रेंज श्री हरीसिंह यादव ने अपने चिरपरिचित चुटीले अंदाज, कविताओं और व्यंग्योक्तियों से सभा को मोहित कर लिया। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार आज पुरस्कृत श्री पाराशर के पिता ने उनमें ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठता के बीज डाले उसी प्रकार आज के हर पिता को अपने पुत्र-पुत्रियों को संस्कारित करना होगा। यही संस्कार होंगे तो समाज में अनहोनी घटनायें नहीं होंगी। उन्होंने मुरैना से जुडे अपने संस्मरण सुनाए साथ ही पुरस्कृत श्री केडी पराशर के साथ पुराने दिनों की याद भी ताजा की।
परहित संस्थान की ओर से कार्यक्रम का संचालन श्री प्रदीप व्यास ने किया। कार्यक्रम को श्री हरिश्चन्द्र शर्मा, डॉ रमेशसिंह सिकरवार आदि ने भी सम्बोधित किया । आयोजन में नगर के गणमान्य जन, पत्रकार गण और भारी संख्या में जनसमुदाया उपस्थित था। सभी के लिए प्रीतिभोज का आयोजन भी कार्यक्रम उपरांत किया गया।
cp sir 1

cp sir 2

cp sir 3

cpsir 5

cp sir 6

cpsir 7

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s